Silence 2 Review in Hindi : फिल्म में मनोज बाजपेयी की एक्टिंग को मिला दर्शको का प्यार, पर कहानी नहीं निकली उतनी दमदार। 

Share This Article

Silence 2 Review in Hindi : 2021 में आयी मनोज बाजपेयी की फिल्म साइलेंस: कैन यू हीयर इट का दूसरा पार्ट रिलीज हो चूका है। | Silence 2 Review in Hindi | यह फिल्म पहले पार्ट की ही कहानी को आगे बढाती नज़र आरही है। हालाँकि फिल्म का दूसरा पार्ट पहले पार्ट से कमजोर नज़र आरहा है। फिल्म की रेटिंग में इस वजह काफी फर्क देखने को मिल रहा है। 

WhatsApp Group Join Now
Instagram Group Join Now

आज के इस आर्टिकल में आपका स्वागत है आज जम आपको मनोज बाजपेयी की आयी नयी फिल्म साइलेंस पार्ट 2 का रिव्यु करने वाले है, हम आपको बताएंगे ये फिल्म कैसी है और आपको क्यों देखनी चाहिए ये फिल्म ?

साइलेंस 2 मूवी रिव्यु। 

Silence 2 Review in Hindi
Source- Instagram
Movie name: Silence 2
Rating:3 Star Rating
Star Cast:Manoj Bajpayee, Prachi Desai, Sahil Ved, Waqar Shaikh, Parul Gulati, Shruti Bapana, Neena Kulkarni
Director:Abaan Bharucha Devhansh
Producer:Karan Devhansh
Writer:Abaan Bharucha Devhansh
Release Date:Apr 16, 2024
Platform:Zee5
Language:Hindi
Budget:N/A

साल 2021 में आई इस फ्रेंचाइजी की पहली फिल्‍म साइलेंस : कैन यू हीयर इट? में कातिल की छोटी सी झलक बीच में दी गई थी। वह फिल्‍म बांधने में कामयाब रही थी। साइलेंस 2 की शुरुआत भी पीड़ित के हाथ कुछ फोटो लगने से होती है। इसमें को्ई रहस्‍य छुपा होता है। दिक्‍कत यह है तफ़्तीश से ज्‍यादा बातें संवादों के जरिए पता चलती हैं, जो फिल्‍म को कमजोर बनाता है।

क्या है फिल्म की कहानी? | Silence 2 Review in Hindi

फिल्म में मनोज बाजपेयी मुख्य किरदार में हैं उनके साथ प्राची देसाई भी नज़र आरही है। फिल्म में मनोज बाजपेयी का नाम ‘अविनाश कुमार’ है जो की एक पुलिस इंस्पेक्टर हैं और वो अपनी टीम के साथ एक केस की गुत्थी सुलझाने में लगे हुए है। 

Silence 2 Review in Hindi
Source- Instagram

फिल्म में दिखाया गया है की एक हत्या कांड होता है, इस हत्‍याकांड में मुख्‍यमंत्री का पसर्नल सेक्रेटरी भी मारा जाता है। अविनाश घटनास्‍थल पर पहुंचता है। अनुमान है कि यह राजनीतिक घटनाक्रम से प्रेरित है। वहां पर एक लड़की की भी बेरहमी से हत्‍या हुई होती है। अविनाश अलग-अलग तरीके से जांच में पाता है कि यह हत्‍या पर्सनल सेक्रेटरी को दाल बनाकर नहीं की गई, बल्कि वह अनजान लड़की हत्‍यारे के निशाने पर थी। 

हालांकि, जांच को लेकर तय समय सीमा से अविनाश बेपरवाह नजर आते हैं। बीच-बीच में मानव तस्‍करी करने वालो का रैकेट संचालित करने वाले, चेहरा ढकी महिला खलनायक जैसे लोगों की झलक भी दिखाई जाती है , लेकिन आप उससे बिलकुल कनेक्‍ट नहीं कर पाएंगे। स्‍पेशल क्राइम यूनिट के लिए काम कर रहे अविनाश और उनकी टीम को बीच-बीच में उसे बंद करने की चेतावनी भी मिलती है, जिसका कहानी से कोई ताल्लुक नजर नहीं आता है।

Silence 2 Review in Hindi

कातिल सीसीटीवी में लंगड़ा बनकर चलता दिखता है। शायद ध्‍यान भटकाने के लिए लेखक ने उसे हिस्‍सा बनाया है। ऑडिशन के नाम पर कई लड़कियों से जबरन वेश्‍वयवृत्ति कराने का एंगल भी है, लेकिन उसे पुरे तरीके से एक्‍सप्‍लोर नहीं किया गया है। अगर आपने इस फिल्म का पहला पार्ट देखा है तो आपको इस पार्ट में उतना दम नज़र नहीं आएगा। फिल्म की कहानी समझने में भी काफी सोचना पड़ेगा लेकिन अगर आपने पहले पार्ट को नहीं देखा है तो कहानी सोचने पर भी समझ नहीं आएगी। फिल्म में मनोज बाजपेयी का अभिनय हमेसा की तरह सराहनीय है और इसमें उनका साथ प्राची देसाई ने बखूबी निभाने की कोशिश की है।

Leave a Comment